All Rajasthan Library with Established In Hindi #2

Spread the love

All Rajasthan Library with Established In Hindi #2

 

Rajasthan library Part 1     Rajasthan library Part 2    Rajasthan library Part 3   Rajasthan library Part 4

Youth growth Our Growth Library Growth

राजकीय सार्वजनिक मंडल पुस्तकालय – अजमेर (इस पुस्तकालय की स्थापना 15 सितंबर 1997 में हुई थी और यह रेलवे रोडवेज बस स्टैंड के मध्य वीरकुमार मार्ग पर स्थित है। यहां वर्गीकरण में DDC 19Th. ED. और सूचीकरण में क्लासिफाइड कैटलॉग कोड प्रयोग होता है।)

राजकीय सार्वजनिक मंडल पुस्तकालय – बीकानेर( यह पुस्तकालय सन 1937 में स्थापित हुआ था। इस पुस्तकालय का नाम किंग एडवर्ड जॉर्ज पंचम समृद्धि पुस्तकालय रखा गया था।देसी रियासतो के विलीनीकरण के पश्चात इसका नाम बदल दिया गया। इस पुस्तकालय को वर्तमान भवन में 4 सितंबर 1954 को स्थांतरित किया गया।)

बरेली लाइब्रेरी–  गनगोरी बाजार, जयपुर( इसकी स्थापना कल्याण सिंह ने की थी। इस लाइब्रेरी की स्थापना 1998 में हुई थी। बाद में इसको लायंस क्लब जयपुर से भी सहायता प्राप्त हुई। यह पुस्तकालय बरेली न्यूज़ पेपर में प्रकाशित कर रहा है।)

ओशो लाइब्रेरी – तिलक नगर,जयपुर

राजकीय सार्वजनिक पुस्तकालय भरतपुर– भरतपुर, राजस्थान( 2008 में भरतपुर संभाग मुख्यालय होने के कारण खोला गया।)

शुभम लाइब्रेरी – जयपुर (इसकी स्थापना 1944 में हुई थी।)

राजस्थान टेक्निकल लाइब्रेरी एसोसिएशन (RTLA) – की स्थापना जून 2010 में जयपुर में की गई।

ज्ञान भंडार लाइब्रेरी – जैसलमेर( इसकी स्थापना 1500 AD में आचार्य महाराज जिन भद्र सूरी ने की थी।)

भूमिगत लाइब्रेरी – जैसलमेर के भादरिया गांव में स्थित है।( यह एक अंडरग्राउंड लाइब्रेरी है इसका निर्माण हरिवंश सिंह निर्मल ने करवाया। इसमें 562 सेल्फ है और 4000 लोग एक साथ बैठ कर पढ़ सकते हैं तथा इसको जगदंबा सेवा समिति चलाती हैं।)

कुंजरु लाइब्रेरी – उदयपुर( इसकी स्थापना 7 अक्टूबर 1973 को मोहन सिंह मेहता ने की थी और इसका नाम पंडित हृदयनाथ कुंजरू के नाम पर रखा गया।)

राजस्थान की सबसे बड़ी ई-लाइब्रेरी– जयपुर में हैं (इसको ऑल इंडिया रिपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ने तैयार किया है इससे पहले चारों ई-लाइब्रेरी को ए आई आर ने तैयार किया और यह देश की 5वी लाइब्रेरी है। इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व राजस्थान हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंदराजोग ने किया। और यह है देश की सबसे बड़ी ” लॉ ई-लाइब्रेरी” है। यह लगभग साढे 7 हजार स्क्वायर फीट में बनी है।)

राजस्थान का सबसे पुराना पांडुलिपि पुस्तकालय – जैसलमेर (इसकी स्थापना 1981 में भादरिया महाराज उर्फ हरवंश सिंह निर्मल ने की थी। )

केंद्रीय संग्रहालय( अल्बर्ट हॉल म्यूजियम) – जयपुर (इसकी स्थापना 1876 में हुई। महाराजा रामसिंह चाहते थे इस को एक टाउन हॉल बनाया जाए “माधो सिंह 2” यह निर्णय लिया कि एक कला का संग्रहालय बनाया जाए। इसका डिजाइन सर सैम्यूल स्विंटन जैकब ने किया था और यह पब्लिक संग्रहालय के रूप में 1887 में खुला था।)

राजस्थान पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग – जयपुर (इसकी स्थापना 1950 में हुई थी।)

पाश्चय विद्या प्रतिष्ठान – जोधपुर (इसकी स्थापना 1955 में मुनि जिन विजय के मार्गदर्शन में हुई थी।)

राजस्थान राज्य अभिलेखागार – बीकानेर (इसकी स्थापना 1955 में हुई।)

अरबी फारसी शोध संस्थान – टोंक, राजस्थान (इसकी स्थापना राजस्थान सरकार ने 4 दिसंबर 1978 में की थी।)

नगरश्री लोक संस्कृति शोध संस्थान – चूरु, राजस्थान (इसकी स्थापना 1964 में राम नवमी के दिन हुई थी।)

राजस्थान राज्य अभिलेखागार – बीकानेर, राजस्थान (प्रारंभ में इसकी स्थापना 1955 में जयपुर में की गई थी जिसे 1960 में बीकानेर में स्थानांतरित कर दिया गया।)

सर छोटूराम स्मारक संग्रहालय – संगरिया, हनुमानगढ़ जिला, राजस्थान (इसकी स्थापना 1938 में स्वामी केशवानंद ने की थी।)

 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »
error: Sorry This is Not Worked.. Contact youth growth